पति / जीवनसाथी पर बनाई हुई हिंदी कविता Hindi Valentine Love poem for Husband

June 26, 2017
हमसफर यह कविता आप अपने पति को जन्मदिन पर या वैलेंटाइन डे पर डेडिकेट कर सकते हैं।आपकी मन की भावनाये , आप इन काव्य पंक्तियों के द्वारा जब अपने पति को  बताएंगे, तो वह बहोत आनंदित एवं उत्साहित होंगे उन्हें पता चलेगा आप उन्हें कितना प्यार करते हैं.
       यह कविता पढ़ने के बाद हर पत्नी को लगेगा मानो उन्होंने अपने पति के लिए ही बनाई है. इस कविता की यही खासियत है की यह कविता हर पत्नी अपने पति को समर्पित कर सकती हैं,  तो पढ़ते हैं  'मेरे हमसफ़र'-



पति / जीवनसाथी पर बनाई हुई हिंदी कविता "हमसफर"

Hindi Valentine Love poem for Husband

बाबुल का आंगन छोड़ कर आई थी जिनके साथ 
किसी अजनबी शख्स ने थामा था मेरा हाथ 
परायों के बीच भी था मेरा कोई अपना 
 जिनके संग बुनती नहीं हर सुनहरा सपना 
मेरी अल्हड सी अदाओं के है वो दीवाने
मानो सदियों से है मुझसे जाने पहचाने
       मेरी छोटी सी छोटी बात का रखते हैं  खयाल 
      नाराजगी भरा चेहरा देखकर करते ढेरों सवाल 
बेसब्री से करती हूं जिनके आने का इंतजार 
थोड़ी सी भी देर हो जाने पर दिल हो जाता है बेकरार 
      प्यारीसी बात को लेकर मुझे जानबूझकर चिढ़ाना 
   मेरी हर गलतियों को प्यार से सुलझाना 
जिनके बिना विरानी लगती है जीवन डगर
वो  हैं मेरे प्यारे हमसफर... हमसफर...

 पति-पत्नी का रिश्ता खट्टा मीठा होता है, पर होता है, बड़ा ही रोमांचित! एक दिन भी अगर वह हमारे साथ ना रहे तो हमारा दिल बेचैन हो जाता है। ताउम्र के लिए यह  रिश्ता यूं ही सजता रहे, संवरता रहे, यही प्रभु से कामना करते हैं। आशा करती हू, मेरी हमसफ़र यह कविता आपके दिल को छू गई होंगी. अपने दोस्तों के साथ शेयर कर के कमेंट करना न भूले.... 

अवश्य पढ़े :- १] महिला संगीत संध्या हिंदी एंकरिंग स्क्रिप्ट 
                    २] कन्या भ्रूण हत्या हिंदी कविता 
                     ३] प्यार पर बनाई हिंदी कविता 
                     ४]बरसात पर बनाई हुई कविता 
                    ५] हिंदी कविता "माँ"
                    ६]शहीदों पर बनाई हुई हिंदी कविता  
Previous
Next Post »

9 comments

  1. mast hai.lekin biwi bhi chahiye tabhi share karunga

    ReplyDelete
  2. सुन्दर है हर भाव आपका
    सच का न छोड़ा आपने साथ
    कुछ ही पंक्तियों में बिखेरे
    आपने पूरे के पूरे जज्बात
    आभार
    अभिनन्दन

    ReplyDelete
  3. Ahchha prayas hai. aapke centiments sarahniya hai. hamare blog 'Grah-swamini' par bhi aisi kavitaye dekh kar bataye ki kaisi hai.

    ReplyDelete